What
image
  • Artificial Jewelry
  • imageArts & Entertainment
  • imageAutomotive
  • Banquets & Bars
  • imageBeauty & Spa
  • Boutiques
  • Car Accessories
  • Car Batteries
  • Car Repair
  • Car Tyres
  • Car Wash
  • Children
  • Daily Needs
  • Departmental Store
  • Electronics
  • Furniture
  • imageHealth & Fitness
  • Heavy Duty Racks
  • Heavy Duty Storage Rack
  • Home Appliances
  • imageHotels
  • Industrial Rack
  • Industrial racking system
  • imageInstitutes & Academies
  • Medical & Doctors
  • Men
  • Motor Cycle Repair
  • Pallet racks
  • Pathology Labs
  • imagePrinting Services
  • imageReal Estate
  • imageRestaurants
  • Sanitary & Hardware
  • imageSchool College University
  • Scooter Repair
  • imageServices
  • imageShopping
  • Slotted Angle
  • slotted angle rack
  • Slotted Angle Rack Manufacturer
  • storage racks
  • Sweets & Confectionery
  • Trade Directory
  • Travel & Transport
  • Two Wheeler Accessories
  • Two Wheeler Batteries
  • Two Wheeler Tyres
  • Warehouse Heavy Duty Rack
  • Warehouse Racking system
  • Women
Where
image
image

CHIRONGI LAL VIRENDRA PAL SARASWATI VIDYA MANDIR INTER COLLEGE

प्रधानाचार्य की कलम से- बालक के मुस्कुराते हुए कमल रूपी मुख मंडल का अवलोकन आनंद की अनुभूति प्रदान कराता है। साथ ही निज मन में अंकुरण होता है स्व-सुपाल्य के पूर्ण विकसित होने का। यही भाव पूरित एवं आपकी मानाभिलाषा पूर्ति हेतु आपके नगर में प्रयासरत है एक ऐसा दीप जो आलोकित है “विद्या भारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान” एवं “भारतीय शिक्षा समिति ब्रजप्रदेश उ० प्र०” से। जिसे आप “चिरोंजी लाल वीरेन्द्र पाल सरस्वती विद्या मंदिर इंटर कालेज” के नाम से पुकारते है। आपके पाल्य में, “विद्या वान गुणी, अतिचातुर” के दर्शन करने वाले इस विद्यालये की परिचयात्मक विवरणिका आपके कर-कमलों में सादर समर्पित है यह विवरणिका आपको परिचय करायेगी संस्थान की नियमावली,विशेषताओ एवं क्रियाकलापों से, जो सफलतम सिद्ध होगी आपके पाल्यों के विकास में। आइये इस मकरंद सार को पढें और हस्तांतरित करें, अपने ईष्ट मित्रों को, ताकि ये “पुष्प” अपनी सुगंध समाज में बिखेर सके। आपके बहुमूल्य सुझाव एवं सहयोग की अपेक्षा के साथ आपका स्नेहा अकांशी- वीरेन्द्र कुमार मिश्र प्रधानाचार्य प्रबन्धक महोदय की कलम से- “शिक्षा आजीवन चलने वाली प्रक्रिया है।” छात्र भी तदानुवर्त्ती कृति से अपने व्यक्तित्व को निखारने, सजाने और सवांरने का प्रयास करता है। हम आप भी संस्कृति, ज्ञान और चरित्र की पावन त्रिधारा के संस्पर्ष से छात्र का परिमार्जन करना ही लक्ष्य मानते हैं। लक्ष्य के अनुरूप सतत् साधना ही पथ प्रशस्ति का साधन बनेगा। अतः हम आप एवं छात्र उदात्त लक्ष्य की प्राप्ति तक अथक प्रयास करने हेतु संकल्पित हैं। सतीश चन्द्र अग्रवाल प्रबन्धक हमारा विद्यालय- सम्प्रति जुलाई 2007 में स.विं म.इ.का बीसलपुर से स्थानान्तरित प्रधानाचार्य वीरेन्द्र कुमार मिश्र के कुशल एवं सफल मार्गदर्शन में 41 आचार्यों का श्रेष्ठ शिक्षण 1400 छात्रों को दिशावोध करने में सतत् प्रयत्नशील है।  विद्यालय का उद्देश्य 1. भारतीय संस्कॄति पर आधारित सर्वांगीण व्यक्‍तित्व का विकास और शिक्षा की व्यवस्था करना । 2. छात्रों में देश भक्‍ति एवं राष्ट्रीय चरित्र का विकास करना । 3. नैतिक जीवन मूल्यों की संरक्षा के प्रति छात्र को सचेष्ट करना । 4. छात्रों में हिन्दी संस्कॄत एवं अंग्रेजी भाषाओं के साथ विज्ञान एवं गणित विषयों के ज्ञान पर विशेष बल देना तथा उच्च कक्षाओं में गणित/विज्ञान विषयों में प्रयुक्‍त अंग्रेजी शब्दावली के माध्यम से शिक्षण करना । 5. व्यवसायिक शिक्षा की ओर छात्र को अभिप्रेरित करना । 6. शारीरिक, य़ोग एवं संगीत शिक्षा की ओर ध्यान आकॄष्ट करना । 7. छात्रों को विभिन्‍न प्रतियोगी परीक्षाओं की जानकारी प्रदान कर उनमें प्रतियोगी भाव उत्पन्न कर मुख्यप्रतियोगी परीक्षाओं से जोड़ना एवं तैयारी कराना। 8. विद्यालय में संस्कारक्षम शैक्षिक वातावरण प्रदान करना । 9. कक्षा ११ के छात्रों का शिक्षण विषय विशेषज्ञों से कराना तथा उन्हें कम्पटीशन योग्य बनाना। हमारे शैक्षिक विषय एवं शिक्षण पद्धति- जूनियर वर्ग: (कक्षा ६ से ८ ) बेसिक सिक्षा द्वारा स्वीकृत हिन्दी, गणित, संस्कृत, अंग्रेजी, विज्ञान, सा. विषय, कम्प्यूटर, चित्रकला, वाणिज्य के अतिरिक्‍त शारीरिक शिक्षा नैतिक एवं आध्यात्मिक शिक्षा का विद्या भारती द्वारा अनुमोदित पाठयक्रम अध्यापित होता है । * हाईस्कूल: हिन्दी, गणित, विज्ञान सा.विषय, अंग्रेजी, संस्कृत / कला / कम्प्यूटर / वाणिज्य। * इण्टरमीडिएट: विज्ञान वर्ग- सामान्य हिन्दी, अंग्रेजी / कम्प्यूटर, भौतिकी, रसायन, गणित एवं जीवविज्ञान। * वाणिज्य वर्ग- सामान्य हिन्दी, अंग्रेजी / कमप्यूटर, वाणिज्य गणित, वहीखाता एवं व्यापार संगठन। पाठ्यक्रम विभाजन: सम्पूर्ण पाठयक्रम को विभिन्‍न खण्डों एवं उपखण्डों में विभाजित कर अध्यापन की व्यवस्था है जिसकी जानकारी छात्र को विषयाचार्य द्वारा प्रारम्भ में ही दे दी जाती है । तथापि छात्र के स्मारणार्थ साप्ताहिक पाठ्‍यक्रम विभाजन की व्यवस्था रहेगी कि आगामी सप्ताह में क्या पढ़ाया जायेगा, जो प्रत्येक शनिवार को विषयशः श्याम पट्‍ट पर चस्पा कर दिया जायेगा। छात्र को तदनुरूप पूर्व तैयारी करके विद्यालय आना चाहिए। शिक्षण पद्धति:- विद्या मन्दिर में बाल केन्द्रित क्रिया आधारित शिक्षण पद्धति के प्रोत्साहनार्थ पंचपदी शिक्षण विधि (अधीती, बोध, अभ्यास, प्रयोग एवं प्रसार) द्वारा प्रत्येक विषय का सफलतम शिक्षण होता है । छात्र का सर्वांगीर्ण विकास करना ही हमारा उद्‍देश्य है। विज्ञान शिक्षण- विद्यालय में विज्ञान के प्रयोगात्मक शिक्षण की अभिनव प्रणाली विक्सित की गयी है । रसायन विज्ञान के सफलतम प्रभावी शिक्षण हेतु आधुनिक, उपकरण से सुसज्जित प्र्योगशाला उपलब्ध है। जहाँ छात्र प्रयोग करके गहनतम जानकारी प्राप्त करते है। भौतिक विज्ञान प्रयोगशाला- छात्रों में प्रत्यक्ष बोध प्रतिष्ठापित करने हेतु आधुनिकतम उपकरण से सुसज्जित भौतिक विज्ञान प्रयोगशाला विकसित की गयी है । जहाँ छात्र प्रयोग कर अपनी जिज्ञासा-समाधान कर अपने में पूर्णता का अनुभव करते है। जीवविज्ञान प्रयोगशाला- जन्तुओं एवं वनस्पतियों की अन्तर्वाह्य संरचना का प्रत्यक्ष ज्ञान भी छात्रों को मिले इस निमित्‍त विद्यालय की अपनी सुसज्जित प्रयोगशाला है। जहाँ विभिन्‍न यंत्रों एवं प्रतिरूपों के प्रयोग एवं अवलोकन से छात्र अपने में ज्ञान प्रतिष्ठापित करने में सफल अनुभूति करते है। कम्प्यूटर शिक्षा- आज का युग कम्प्यूटर युग है । विद्यालय में इण्टरमीडिएट तक कम्प्यूटर शिक्षा का सफलतम शिक्षण होता है । कम्प्यूटर की सुसज्जित दो प्रयोगशालाएं है । जहाँ छात्र समयानुरूप प्रत्यक्ष ज्ञान प्राप्त कर अपने आयाम को पूर्ण करते हैं। सम्पर्क सूत्र- चिरौंजी लाल वीरेन्द्र पाल सरस्वती विद्या मन्दिर इण्टर कालेज माधोटांडा मार्ग, पीलीभीत फोन न० 9219429671 ईमेल का पता – clvp@svmpbt.com

image